Shamim Abbas Urdu Shayari Gazal In Hindi - Shayariki

Top Hindi Blog For Shayari, Ghazal And Poetry

Friday, March 20, 2020

Shamim Abbas Urdu Shayari Gazal In Hindi

शमीम अब्बास हम में कोई ख़ास बात नहीं

तुम में तो कुछ भी वाहियात नही
जाओ तुम आदमी की जात नही

दिल में जो है वही जबान पर है
और हम में कोई खास बात नही

सब को धुत्कारा दर किनार किया
बस खुद ही से नजात नही

खुल के मिलते है जिससे मिलते है
दिल में कोई छूत छात नही

एक ताल्लुक सभी से है लेकिन
सबसे जायज़ तालुकात नहीं

ये शायरी है ये शायरी साहब 
शरीफों के बस की बात नही

Shamim Abbas Ham me koi khaas baat nahi


Tum me to kuch bhi wahiyat nahi hai
Jao tum insan ki jaat nahi

Dil me jo hai wahi zabaan par hai
Aur koi ham me khaas baat nahi

Sab ko dhutkara dar kinaar kiya
Bas khud hi se najaat nahi

Khul ke milte hai jisse milte hai
Zahen me koi choot chaat nahi

Ek taalluq sabhi se hai lekin
Sab se jayaz taaluqat nahi

Aur shayari hai ye shayari sahab
Ye sharifon ke bas ki baat nahi

No comments:

Post a Comment